पाँच राज्यों के विधान सभा चुनाव : सभी गणनाएँ


जय श्री राम ……… आदरणीय मित्रो, अपनी 02 फ़रवरी की पोस्ट में हमने उत्तर प्रदेश, मणिपुर, गोवा, पंजाब व उत्तराखण्ड (निर्माण-तिथि 09-11-2000) के विधान सभा चुनाव से सम्बन्धित भविष्यवाणी प्रस्तुत की थी| इसके बाद 09 फ़रवरी की पोस्ट में उत्तराखण्ड की निर्माण-तिथि 01-01-2007 लेकर भविष्यवाणी प्रस्तुत की| उत्तराखण्ड की इन दोनों भविष्यवाणियों में परिणामगत आमूल-चूल अन्तर नहीं आया यानि पहले वाली भविष्यवाणी में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस यानि भाराकां पूर्ण बहुमत से सरकार बनाती नज़र आ रही है तो दूसरी भविष्यवाणी में सरकार कांग्रेस की ही बन रही है और वह भी पूर्ण बहुमत से| हाँ, पहली भविष्यवाणी की तुलना में दूसरी भविष्यवाणी में कांग्रेस की सीटें अवश्य कुछ कम हो गयीं|

हमारे कई मित्रों, शुभचिंतकों, नियमित पाठकों ने हमसे यह इच्छा प्रकट की कि हमारी ऐसी गणना का जो अन्तिम रूप प्रस्तुत करते हैं, वह किन-किन प्रक्रियाओं से होकर अपने अन्तिम रूप तक पहुँचती है? तो हमने यह निर्णय किया कि हम आप सभी को अपनी उस आकलन-विश्लेषण-प्रक्रिया से अवगत करवाएँ, जिससे आपको भी पता चले कि अपनी एक भविष्यवाणी के पीछे हमारी मेहनत का किस रूप में रहती है? हालांकि पूरी प्रक्रिया तो फिर भी यहाँ रख पाना सम्भव नहीं है क्योंकि वह बहुत लम्बी है|

उत्तर प्रदेश

सबसे पहले बात करते हैं देश के सबसे बड़े ‘राजनीतिक राज्य’ उत्तर प्रदेश की| हमने इस राज्य के लिए कुल छह विधियों से गणना की|

राष्ट्रीय व प्रादेशिक पार्टियों के प्रदेशाध्यक्षों सहित गणना का परिणाम

                               (1)    राष्ट्रीय लोक दल सहित               (2) राष्ट्रीय लोक दल रहित

समाजवादी पार्टी      70 सीटें (कम-अधिक 7)                    88 सीटें (कम-अधिक 9)

बहुजन समाज पार्टी   93 सीटें (कम-अधिक 9)                    95 सीटें (कम-अधिक 10)

भाजपा +           176 सीटें (कम-अधिक 18)                       176 सीटें (कम-अधिक 18)

भाराकां             34 सीटें (कम-अधिक 3)                             44 सीटें (कम-अधिक 4)

राष्ट्रीय लोक दल     09 सीटें (कम-अधिक 1)

अन्य               20 सीटें                                                       अन्य-20 सीटें (कम-अधिक 2/इस में रालोद की 09 सीटें हैं)

राष्ट्रीय व प्रादेशिक पार्टियों के प्रदेशाध्यक्षों रहित गणना का परिणाम

                                (3) राष्ट्रीय लोक दल सहित     (4)  राष्ट्रीय लोक दल रहित

समाजवादी पार्टी      86 सीटें (कम-अधिक 9)          103 सीटें (कम-अधिक 10)

बहुजन समाज पार्टी   95 सीटें (कम-अधिक 10)       90 सीटें (कम-अधिक 9)

भाजपा +           179 सीटें (कम-अधिक 18)            168 सीटें (कम-अधिक 17)

भाराकां             35 सीटें (कम-अधिक 4)                 42 सीटें (कम-अधिक 4)

राष्ट्रीय लोक दल     08 सीटें (कम-अधिक 1)

अन्य               20 सीटें                                              अन्य-20 सीटें (कम-अधिक 2/इस में रालोद की 09 सीटें हैं)

राष्ट्रीय पार्टियों के प्रदेशाध्यक्षों सहित गणना का परिणाम

                               (5) राष्ट्रीय लोक दल सहित        (6) राष्ट्रीय लोक दल रहित

समाजवादी पार्टी      89 सीटें (कम-अधिक 9)          109 सीटें (कम-अधिक 11)

बहुजन समाज पार्टी   95 सीटें (कम-अधिक 10)       88 सीटें (कम-अधिक 9)

भाजपा +           178 सीटें (कम-अधिक 18)            167 सीटें (कम-अधिक 17)

भाराकां             32 सीटें (कम-अधिक 4)                39 सीटें (कम-अधिक 4)

राष्ट्रीय लोक दल     09 सीटें (कम-अधिक 1)

अन्य               20 सीटें                                            अन्य-20 सीटें (कम-अधिक 2/इस में रालोद की 09 सीटें हैं)

हमने इन में से छठी गणना को अन्तिम रूप से चयनित किया| अब 11 मार्च को पता चलेगा कि इन में से हमारी कौनसी गणना सही साबित होती है?

पंजाब

अब बात करते हैं पंजाब की| इस राज्य के लिए हमने तीन विधियों से गणना की|

              (1)राष्ट्रीय व प्रादेशिक पार्टियों       (2)राष्ट्रीय व प्रादेशिक पार्टियों         (3)राष्ट्रीय पार्टियों के

                    के प्रदेशाध्यक्षों सहित                     के प्रदेशाध्यक्षों रहित                      प्रदेशाध्यक्षों सहित

शिअद       21 सीटें (कम-अधिक 2)               21 सीटें (कम-अधिक 2 )            20 सीटें (कम-अधिक 2)

भाजपा      06 सीटें (कम-अधिक 1)               6 सीटें (कम-अधिक 1)              6 सीटें (कम-अधिक 1)

भाराकां      53 सीटें (कम-अधिक 5)              49 सीटें (कम-अधिक 5)            49 सीटें (कम-अधिक 5)

आआपा     37 सीटें (कम-अधिक 4)               41 सीटें (कम-अधिक 4)            42 सीटें (कम-अधिक 4)

अन्य-06 सीटें (कम-अधिक 1)                      06 सीटें (कम-अधिक 1)            06 सीटें (कम-अधिक 1)

उत्तराखण्ड

उत्तराखण्ड राज्य की भविष्यवाणी हमने पहले भाग में दो विधियों से आकलन-विश्लेषण कर की थी| यहाँ हमने इस राज्य के जन्म से गणना की थी| तब इसका नाम ‘उत्तराँचल’ नाम काम में लिया था| इस में दो तरह से गणना की थी|

                     (1)    राष्ट्रीय पार्टियों के प्रदेशाध्यक्षों सहित      (2) राष्ट्रीय पार्टियों के प्रदेशाध्यक्षों रहित   

भाराकां                41 सीटें (कम-अधिक 4)                         50 सीटें (कम-अधिक 5)

भाजपा                29 सीटें (कम-अधिक 3)                         20 सीटें (कम-अधिक 2)

अन्य                    04 सीटें                                                                   4 सीटें

इन में से हमने पहले वाली गणना को अन्तिम रूप से चयनित किया|

उत्तराखण्ड राज्य को लेकर दूसरी गणना हमने इस राज्य का नाम ‘उत्तराँचल’ से ‘उत्तराखण्ड’ किए जाने की दिनांक से की| इस में हमने एक ही विधि से गणना की|

(1)    राष्ट्रीय पार्टियों के प्रदेशाध्यक्षों सहित         

भाराकां 38 सीटें (कम-अधिक 4)

भाजपा 32 सीटें (कम-अधिक 3)

अन्य  04 सीटें

गोवा

इस राज्य की भविष्यवाणी तैयार करने में हमने दो विधियाँ काम में लीं|

                   (1)    राष्ट्रीय पार्टियों के                (2) राष्ट्रीय पार्टियों के

                       प्रदेशाध्यक्षों सहित                    प्रदेशाध्यक्ष रहित      

भाजपा+        07 सीटें (कम-अधिक 1)               07 सीटें (कम-अधिक 1)

भाराकां         14 सीटें (कम-अधिक 1)               15 सीटें (कम-अधिक 2)

आआपा        12 सीटें (कम-अधिक 1)                12 सीटें (कम-अधिक 1)

मगोपा           05 सीटें (कम-अधिक 1)                05 सीटें (कम-अधिक 1)

शिसे              01 सीट                                         01 सीट

गोसुमं            01 सीट                                        01 सीट

अन्य              02 सीटें                                        02 सीटें

मणिपुर

इस राज्य की हमने तीन विधियों से गणना की|

                      (1)राष्ट्रीय व प्रादेशिक पार्टियों       (2)राष्ट्रीय व प्रादेशिक पार्टियों     (3)राष्ट्रीय पार्टियों के

                          के प्रदेशाध्यक्षों सहित                     के प्रदेशाध्यक्षों रहित                     प्रदेशाध्यक्षों सहित

तृमूकां             12 सीटें (कम-अधिक 1)               14 सीटें (कम-अधिक 1 )           20 सीटें (कम-अधिक 2)

भाजपा            20 सीटें (कम-अधिक 2)             16 सीटें (कम-अधिक 2)           6 सीटें (कम-अधिक 1)

भाराकां           25 सीटें (कम-अधिक 3)              27 सीटें (कम-अधिक 3)           49 सीटें (कम-अधिक 5)

नपीफ्र             03 सीटें                                        03 सीटें                                      42 सीटें (कम-अधिक 4)

अन्य-             03 सीटें                                        03 सीटें                                       03 सीटें

इस प्रकार हमने अपनी भविष्यवाणी की आधार-गणनाएँ आपके सम्मुख रख दी हैं| इसके पीछे हमारा उद्देश्य यही है कि आप इन भविष्यवाणियों की विधि व इस में हमारी मेहनत से भी परिचित हो जाएँ| अब 11 मार्च को आने वाले मतगणना के परिणामों को अंक ज्योतिष के विद्यार्थी होने के नाते भविष्य की गणनाओं में काम लेंगे| ……… जय श्री राम

Advertisements

विधान सभा चुनाव-2017 :: पंजाब : किसे कितनी सीटें : इस बार कांग्रेस की बल्ले-बल्ले


जय श्री राम ………| आदरणीय मित्रो, हमारी ‘कृपात्रयी’ (प.पू. गुरुदेव देवरहा बाबा, माँ बगलामुखी और घोटेवाले) की कृपा से हालिया विधान सभा चुनावों सम्बन्धी सीटों की संख्या सम्बन्धी भविष्यवाणी के क्रम में प्रस्तुत है पंजाब की बात| यहाँ इस बार चुनाव त्रिकोणीय है| सत्तारूढ़ शिरोमणि अकाली दल-भारतीय जनता पार्टी गठबन्धन व कांग्रेस के बीच कूद कर ‘आम आदमी पार्टी’ ने इस बार के दंगल को बहुत दिलचस्प बना दिया है| पंजाब के बारे में पिछले विधान सभा चुनाव में हमारी भविष्यवाणी चमत्कारिक रूप से सही ठहरी थी| तब अंक ज्योतिष एवं बॉडी लैंग्वेज पर आधारित अपने मासिक अख़बार ‘अंक प्रभा’ के 01 जनवरी, 2012 के अंक में हमने कहा था कि ‘पंजाब : अकाली-भाजपा फिर एक बार’, यद्यपि ऐसा कहने पर हमें न सिर्फ़ ज्योतिषियों, बल्कि राजनेताओं की हँसी का पात्र भी बनना पड़ा था, मगर हमारी भविष्यवाणी सही ठहरने ने सभी का मुँह बन्द कर दिया था|

इस गणना में राष्ट्रीय पार्टियों के प्रदेशाध्यक्षों को सम्मिलित किया गया है; साथ ही प्रमुख दलों को लिया गया है| शेष पार्टियों व निर्दलियों को ‘अन्य’ में सम्मिलित किया गया है|  हमने भारतीय जनता पार्टी को ‘भाजपा’, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस को ‘भाराकां’ व आम आदमी पार्टी को ‘आआपा’ लिखा है|

गणनीय अंक

पंजाब:-मूलांक:-1   भाग्यांक:-7   आयु-अंक:-6 (51 वाँ)     नामांक:-5     दिन-अंक:-9

मतगणना:-मूलांक:-2      भाग्यांक:-6     दिन-अंक:-8      वर्षांक:-1      चलित:-3

विधान सभा-अंक:-6 (15 वीं)

 

पार्टी/व्यक्ति मूलांक भाग्यांक नामांक आयु-अंक दिन-अंक एकल योग महायोग
शिअद

 

5

5+

2

7+

9

+

8

+

9

+

  15+/5

=3+

7.13+/2

=3,56+

सुखबीर सिंह 9

+

7

7+

4

0

 

1

4+

2

7+

7

7+

26+/6

=4.33+

 भाजपा

 

6

3+

1

4+

2

7+

1

4+

1

4+

4

0

22+/6

=3.66+

 

13.82+/3

=4.6+

अमित शाह

 

4

0

7

7+

6

3+

8

+

3

9+

  20+/5

=4+

 
विजय सांपला 6

3+

3

9+

3

9+

2

7+

3

9+

  37+/6

=6.16+

भाराकां

 

2

7+

1

4+

3

9+

4

0

2

7+

7

7+

34+/6

=5.66+

14.12+/3

=4.7+

सोनिया गांधी 9

+

5

5+

9

+

8

0

2

8+

7

7+

22+/6

=3.66=

अमरिन्दर सिंह 2

7+

3

9+

6

3+

4

0

5

5+

  24+/5

=4.8+

आआपा

 

8

+

6

3+

8

+

5

5+

2

7+

7

7+

24+/6

=4+

7.8+/2

=3.9+

अरविन्द केजरीवाल 7

7+

3

9+

4

0

4

0

6

3+

  19+/5

=3.8+

कुल निर्वाचनीय सीटें=117

कुल=शिअद+भाजपा+भाराकां+आआपा=3.56+4.6+4.7+3.9=16.76

शिअद=3.56*100/16.76=21.24*94=19.96=20 सीटें     भाजपा=4.6*100/16.76=27.44*23=06.31=06 सीटें

भाराकां=4.7*100/16.76=28.04*117=32.81=32 सीटें   आआपा=3.9*100/16.76=23.33*117=27.30=27 सीटें

अब तक की कुल सीटें=20+06+32+27=85      शेष सीटें=32

भाराकां+आआपा=4.7+3.9=8.6

भाराकां=4.7*100/8.6=54.65*32=17.48=17          आआपा=3.9*100/8.6=43.34*32=14.51=15

भाराकां=32+17=49 सीटें        आआपा=27+15=42 सीटें

इसलिए अन्तिम रूप से-

   शिअद=20 सीटें (कम-अधिक 2 सीटें)         भाजपा=06 सीटें (कम-अधिक 1 सीट) 

   भाराकां=49 सीटें (कम-अधिक 5 सीटें)                आआपा=42 सीटें (कम-अधिक 4 सीटें)  

   अन्य= 6 सीटें (कुल निर्वाचनीय सीटों की 5%)

इस प्रकार यह साफ़ है कि इस बार पंजाब की सत्ता का चेहरा बदलने जा रहा है| दस बरसों से लगातार सत्ता में रहने वाला ‘अकाली-भाजपा गठबन्धन’ सत्ता से बाहर होगा और कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी के रूप में सत्ता पर काबिज होने के सबसे नजदीक रहेगी| अब यह देखना है कि कांग्रेस कम पड़ने वाली सीटों की कमी किस तरह करेगी? बहुत सम्भव है कि सरकार बनाने के लिए गोवा की तरह यहाँ भी कांग्रेस और आआपा साथ आ जाएँ| पंजाब के इस चुनाव के सम्बन्ध में हम विश्लेषणपरक चर्चा इस शृंखला के दूसरे चरण की पोस्ट में करेंगे| ……. जय श्री राम|

 

 

 

I DONT LUV U की रिलीज : असफल रहेगी


जय श्री राम …………| आदरणीय मित्रो, यह है इस बार की रिलीज दूसरी फ़िल्म|
I DONT LUV UI DONT LUV U
नामांक:-6 (+) वृहदंक:-42 (-) मूलांक समीकरण:-1-2-6-6 (+)
निर्माता
DR. ANIL KUMAR SHARMA
नामांक:-2 (-) वृहदंक:-47 (-) मूलांक समीकरण:-6-1-6-7 (+)
निर्देशक
AMIT KASARIA
नामांक:-3 (+) वृहदंक:-21 (-) मूलांक समीकरण:-1-2 (-)
कलाकार
RUSLAAN MUMTAZ
नामांक:-2 (-) वृहदंक:-47 (-) मूलांक समीकरण:-3-8 (+)
CHETNA PANDEY
नामांक:-2 (-) वृहदंक:-47 (-) मूलांक समीकरण:-5-6 (-)
MURLI SHARMA
नामांक:-5 (-) वृहदंक:-32 (+) मूलांक समीकरण:-7-7 (-)
परिणाम:-असफल रहेगी|
मिलते हैं अगली फ़िल्म की बात लेकर| ………… जय श्री राम|

आज की हस्ती : अपर्णा सेन


जय श्री राम ………..| आदरणीय मित्रो, यह है 25 अक्टूबर की बात|
अपर्णा सेन
(फ़िल्मकार)
जन्म-दिनांक:-25-10-1945
मूलांक:-7 भाग्यांक:-9 आयु अंक:-5 (68 वाँ वर्ष) नामांक:-4
# विशिष्ट सम्मान/पुरस्कार मिल सकता है|
# फिर फ़िल्म बना सकती हैं|
# बेटी की परिवार-वृद्धि/इसका आधार संभव है|
मिलते हैं अगली पोस्ट के साथ| ………… जय श्री राम|

आज की रिलीज़ फ़िल्में:राहत देंगी


जय श्री राम ………… | मित्रो,होली के रंग-ओ-गुलाल भरे मज़े के बाद आज हम फिर से मिल रहे हैं | कैसी रही आप की होली ? उम्मीद है कि इस होली पर ख़ुशियाँ आप की हो—ली | कितनी ‘होली’ (पवित्र ) है यह होली | वर्ष 2010 के अब तक के सफ़र में कई फ़िल्में रिलीज़ हो—लीं,मगर अधिकतर के खाते में सफलता की बजाय विफलता ही आयी है | अब देखते हैं कि आज रिलीज़ होने वाली फ़िल्में क्या कर दिखाती हैं ? सब से पहले तो बात की जाए आज के अंकीय समीकरणों की | आज का मूलांक 5 और भाग्यांक 2 है | अभी मासांक 3 और चलित अंक 3 (धनात्मक) है | अंक 5 संगत के अनुसार फल देता है | अंक 2 के साथ इस की गहरी मित्रता नहीं है तो गहरी शत्रुता भी नहीं है | अगर इन की संगत में शुभ अंक हों तो इन की युति शुभ फल-दायी रहती है,अन्यथा हानि उठानी पड़ती है |
ATITHI TUM KAB JAOGE ?
कहा तो अब भी यही जाता है की ‘अतिथि देवो भव:’,मगर जब अतिथि जब ‘देव’ की जगह ‘दानव’ की भाँति हो जाए तो आतिथेय पूछने पर विवश हो जाता है कि—‘अतिथि तुम कब जाओगे ?’ इस फ़िल्म से ‘वार्नर ब्रदर्स’ जैसा बहुत बड़ा नाम जुड़ा है | इस का अंक बनता है-7 | इस का वृहदंक है-52 | यहाँ वही 2 और 5 की युति बन रही है,जो कि आज के मूलांक-भाग्यांक की है | यह वृहदंक बना है 7-5-5-8 से | यहाँ अंक 7 शुभ है | अंक 5 इस की संगत में शुभ है | अंक 8 कुछ विखंडन पैदा कर रहा है | निर्माता अमिता पाठक का अंक है-5,जो कि आज का मूलांक है | इस का वृहदंक है-32 | यह बना है 2-3 से | निर्देशक अश्वनी धीर का अंक है-6 | इस का वृहदंक है-33,जो कि बना है–3-3 से | यह अंक 3 ही चलित अंक है | अंक 6 इस चलित अंक से मित्रता रखता है | अतः शुभ है | नायिका कोंकणा सेन शर्मा का अंक है-7 | इस के शुभत्व के बारे में हम चर्चा कर ही चुके हैं | इस का वृहदंक है-52 | यह ठीक-ठीक फ़िल्म के अंकों वाला मामला है | नायक अजय देवगन का अंक है-1 | इस की चलित के साथ मित्रता है,इस लिए यह भी ठीक-ठाक पक्ष का बनता है | इस का वृहदंक है-28 | यहाँ अंक 2 और 8 की युति इच्छापूर्ति में बाधा बताती है | यह बना है 4-6 से | अंक 4 और 6 की युति आर्थिक मामले में आज के मूलांक के साथ मिल कर कुछ डावाँडोल हालत बनाती है | फ़िल्म के एक और आधार-स्तम्भ परेश रावल का भी अंक बनता है-1,मगर इस का वृहदंक है-37 | यह बना है 6-4 से | अंक 4 और 6 की युति के आज के सन्दर्भ में फल की हम बात कर ही चुके हैं | अतः ये अंकीय विश्लेषण इस बात की ओर इंगित करता है कि इस का अंक 2 का परिवार बहुत ही मज़बूत है | इस में अंक 2 और अंक 7 आते हैं | यह अंक-परिवार महिला,कहानी,नायिका और ट्रीटमेंट का भी होता है | अतः ये सारी बातें इस फ़िल्म के पक्ष में जा सकती हैं | कुल मिला कर यह एक सफल फ़िल्म रह सकती है—कमाई और तारीफ़,दोनों ही के दृष्टिकोण से |
ROAD,MOVIE
इस फ़िल्म का अंक बनता है-1 | जैसा कि हम पहले निवेदन का चुके हैं कि अंक 1 चलित का मित्र होने के कारण ठीक-ठाक शुभत्व की स्थिति में है | इस का वृहदंक है-37 ,जो कि 5-5 से बना है | निर्माता रोस कट्ज़ का अंक बनता है-2,जो कि आज का भाग्यांक है,इस लिए शुभ है | एक और निर्माता सूसन बी. लंदाऊ का अंक बनता है-4 | यह आज के अंकों के साथ विषमता उत्पन्न कर रहा है | इस का वृहदंक है-40 | यह पूर्वोक्त विषमता को ही बढ़ा रहा है | यह बना है 9-2-2 से | यह समीकरण शुभ है,किन्तु यह सूक्ष्म स्तर का है,इस लिए लाभ का प्रतिशत कम है | निर्देशक देव बेनेगल का अंक बनता है-3 | यह चलित का अंक है,अतः शुभ है | यह बना है-39 से | यह भी चलित और उस के मित्र के कारण शुभ युति निर्मित कर रहा है | यह बना है 6-6 से | अंक 6 के चलित का मित्र होने के कारण यह शुभ है | नायक अभय देओल का अंक है-2 | आज का भाग्यांक होने के कारण यह शुभ है | इस का वृहदंक है-29 | यहाँ अंक 2 फिर से शुभत्व की स्थिति निर्मित कर रहा है तथा अंक 9 की इस के साथ युति विजय-योग बना रही है | नायिका तन्निष्ठा चटर्जी का अंक बनता है-6 | इस के बारे में हम पूर्व में चर्चा कर ही चुके हैं | इस का वृहदंक है-69 | ये दोनों ही अंक चलित के मित्र होने के कारण पक्ष के हैं | यह बना है 7-8 से | यह युति इच्छा-पूर्ति में बाधा बताती है | अतः इस फ़िल्म के खाते में भले ही कोई बहुत बड़ी हिट का ख़िताब न आ पाए,मगर यह अपनी लागत निकाल लेगी और अपने निर्माता के लिए घाटे का सौदा नहीं रहेगी;ऐसा ही लगता है |
ROKKK
आज रिलीज़ होने वाली यह तीसरी फ़िल्म एक छोटे बज़ट की फ़िल्म है | इस का अंक है-6 | इस के बारे में हम पहले चर्चा कर चुके हैं | इस का वृहदंक बनता है-15 | अंक 5 आज का मूलांक होने के कारण पक्ष का है और अंक 1 चलित का मित्र होने के कारण शुभ है | इस फ़िल्म के नाम में KKK रखे गये हैं | यह कोई ज़्यादा समझदारी का काम नहीं किया गया है | इस की बजाय यदि K ही रखा जाता तो फ़िल्म के पक्ष में प्रतिशत अधिक रहता | निर्माता विपिन जैन का अंक बनता है-2,जो कि आज का भाग्यांक होने के कारण पक्ष का है | इस का वृहदंक है-29,जो कि आज के भाग्यांक 2 के साथ अंक 9 के बैठने के कारण विजय-योग निर्मित कर रहा है | यह बना है 3-8 से | यह युति लाभ में कटौती बताती है | निर्देशक राजेश रणशिंघे का अंक है-2,जो कि पक्ष का है | इस का वृहदंक बनता है-47 | यह इच्छा-पूर्ति में बाधा बताता हैं | यह बना है 8-3 से | यह युति लाभ में कटौती बताती है | फ़िल्म कि एक नायिका तनु श्री दत्ता का अंक बनता है-1,जो कि ठीक-ठाक पक्ष का है | इस का वृहदंक है-55 | अंक 5 आज का मूलांक होने के कारण पक्ष का है | यह बना है 7-2-1 से | यह युति भी अंक 2 के परिवार की प्रधानता के कारण पक्ष की है | दूसरी नायिका उदिता गोस्वामी का अंक है-5,जो कि पक्ष का है | इस का वृहदंक है-41 | यहाँ अंक 1 और 4 की युति ग्रहण-योग बना रही है | यह शुभ नहीं है | यह वृहदंक बना है 7-7 से | यह अंक 7 की प्रधानता शुभ हैं | अतः यह विश्लेषण बताता है कि यह फ़िल्म कोई बड़ी हिट भले ही न हो,मगर अपनी लागत निकाल लेगी | यह अपने निर्माता को मारेगी नहीं,लगता तो ऐसा ही है |
तो मित्रो,आज रिलीज़ हो रही फ़िल्मों के अंकीय विश्लेषण से तो यह लगता है कि ये फ़िल्में राहत देने वाली रह सकती हैं | हिंदी फिल्मोद्योग को इन फ़िल्मों से भले ही ख़ुशियों कि तगड़ी बरसात न मिल पाए,मगर ठंडी-ठंडी फुहारें मिलने की उम्मीद की जा सकती है | … अपनी पिछली पोस्ट में हम ने कहा था कि एक बहुत ही ख़ास बात आप से करेंगे | तो कल करेंगे वह बात,और वास्तव में वह अब तक की इस लीक से हट कर व बहुत ही ख़ास होगी | ……… आज बस इतना ही | अब आज के आनंद की जय | ……….. जय श्री राम |

%d bloggers like this: